Wednesday, 10 April 2013

एक चेतावनी भरतवंशियों के लिए

नव संवत्सर की मंगल कामनाओं के साथ एक चेतावनी भरतवंशियों के लिए 

संवत्सर नया आ गया सनातनी परन्तु 
भगवा ध्वजा महत्ता आज घटने लगी
चैत्र नवरात्र का शुभारम्भ हो गया किन्तु
नई पीढ़ी परम्पराओं से कटने लगी 
तीर्थ मंदिरों में भीड़ हो रही अपार किन्तु 
शासकों की द्रोहियों के संग पटने लगी 
धर्म भूलने लगे हैं आज भारतीय वीर 
धरती से मानवीयता सिमटने लगी 

रचनाकार
डॉ आशुतोष वाजपेयी
लखनऊ

6 comments: